Valentines Day Love Shayari in Hindi for Lovers

Share:

Valentines Day Love Shayari in Hindi for Lovers

Valentines Day Love Shayari in Hindi for Lovers


Valentines Day is celebreted on 14 February all over the world. This is the very special day for all the lovers in the world. Everyone has their own desire of loving their loveones. We have bring some of the best collection of Valentines Day 2016 Love Shayari for Lovers and Valentines Day Shayari for Couples. In this post you will find Valentines Day Shayari for girlfriend boyfriend, Valentines Day Shayari for husband wife and Valentines Day Shayari for Friends.


Valentines Day 2019 Love Shayari

उसकी हसरत मेरी तकदीर
मैं लिखने वाले,
काश उसे भी मेरी
तकदीर मैं लिख दिया होता...

Valentines Day Love Shayari for Girlfriend

ज़िन्दगी को प्यार हम आप से
जयादा नही करते , किसे पे
ऐतबार आप से जयदा नही करते ,
आप जी सके मेरे बिना तो
अच्छे बात है .. हम जी लेंगे
आप के बिना ये वाद नही करते !!

Valentines Day shayari for Her

जज़्बाते इश्क़ नाकाम ना होने देंगे ,
दिल की दुनिया में कभी शाम ना होने देंगे ,
दोस्ती का हर इलज़ाम अपने सर पर ले लेंगे ,
पर दोस्त हम तुम्हे बदनाम न होने देंगे …

Valentines Day Shayari 4 Husband

सजदे दिल के तराने बहुत है
जिंदिगी जीने के बहाने बहुत है
आप सदा मुस्कुराते रहना क्यों के
आपकी मुस्कराहट के दीवाने बहुत है…

Valentines Day Shayari Msg


Jab tak thokar na lagay bewafai ki

Har kisi ko apne pyar par naaz hota hai.

Sad Valentines Day for Boyfriend

दिल टूटना सज़ा है मोहब्बत की ,
दिल जोड़ना अदा है दोस्ती की ,
मांगे जो क़ुरबानी वह है मोहब्बत ,
जो बिन मांगे हो जाये वो है दोस्ती हमारी…

Romantic Valentines Day Shayari for Lovers

उसके होंटों की इज़्ज़त
का ख्याल आता है...
वरना फूलो को तो हम
सरेआम चुम लिया करते है...

Valentines Day Shayari for Wife

Usske hoonton ki izzat
Ka khayaal aata hai to...
Warna pholoon ko to hum
sare aam chooom liyaa karte hai...


Valentines Day Hindi Shayari

खुश हूँ मैं ,
न कोई शिकवा ज़माने से
ना तक़दीर से
मेरी इस बात को
झूठा क्यों बना जाते हैं ये आसूं...

Valentines Day Shayari for Friendship

Khush hoon main,
na koi shikwa zamaane se
na taqdeer se
Meri is baat ko
jhoota kyun bana jaate hain ye aasoon..

No comments